“भेजा शोर करता है!”

लेखन और मानसिक स्वास्थ्य (फ़्री वैबिनार)  

27 अगस्त 2020 (गुरुवार) ।   सायं  6  बजे से 7:30 बजे तक

भेजा शोर करता है और आज कल तो कुछ ज़्यादा ही जोर से शोर करता है! भेजे के शोर से हम थक जाते है, productivity कम हो जाती है, creativity गुल हो जाती है। बस एक ही काम हम auto-pilot पर करते है कि भेजे की सुनो, वो जैसे उकसाता है, उस पर react करो।

जो सचमुच अच्छे और सच्चे काम करने हैं, वो धरे के धरे रह जाते हैं। जैसे कि लिखना है। उस नयी कहानी पर काम करना है, जो नहाते वक्त या सोते वक्त दिल में आई थी। 

लम्बी साँसे भरना याद रहता नहीं, मेडिटेशन करने के एक जगह बैठा जाता नहीं।

ऐसा लगता है कि भेजे को मोबाइल जैसे खोल ही दें, और अंदर के बिखरे पार्ट्स अपनी जगह पे फ़िट कर दें!

अगर ये बतायें आपको, कि ये मुमकिन है, तो?

मस्तिष्क पर विजय पाने के लिए, उसे समझना ज़रूरी है। उसका और दिल का क्या रिश्ता है, जानकारी ज़रूरी है। नींद और क्रिएटिविटी का क्या नाता है? क्या गांधीजी को भी मस्तिष्क से लड़ाई लड़नी पड़ी थी, अंग्रेज़ों से भिड़ने से पहले? उनकी strategies क्या थी?

मानसिक स्वास्थ्य से जुड़े हमारे पिछले तीन वैबिनारों को आपका बहुत स्नेह मिला। इसी कड़ी में स्क्रीनराइटर्स एसोसिएशन प्रस्तुत करते हैं, इसी विषय पर एक और वैबिनार, हिंदी में!

इस बार एक और बात ख़ास होगी कि सवाल-जवाब के लिए ज़्यादा समय रखा गया है। तो रजिस्टर करते वक़्त हमें अपने सवाल भेजना ना भूलें। 

 

पैनलिस्ट: डॉ आलोक बाजपेयी
NIMHANS से साइकियाट्री का अध्ययन, IIT कानपुर में कार्यरत, किताब ‘माया इज़ रियैलिटी’ के लेखक, निद्रा पर शोध, मानसिक स्वास्थ्य के कार्यक्रमों जैसे ‘How the brain creates mind’ और ‘Psychiatry: An overview’ से जुड़े हैं, फिल्मों के शौक़ीन – FTII (पुणे) से फिल्म ऐप्रिसिएशन का कोर्स।

मॉडरेटर: मनीषा कोरडे
स्क्रीनराइटर, ‘मालामाल वीकली’ और ‘भूल भूलैय्या’ जैसी कई फिल्मों के संवाद लिखने के लिए जानी जाती हैं।

रजिस्ट्रेशन लिंक: https://forms.gle/46xDE1HLuP1e7pcB6

इवेंट पेज लिंक: https://www.facebook.com/events/1376947666029696

***

महत्वपूर्ण निर्देश

1. यह एक फ़्री ऑनलाइन वैबिनार है जिसमें सभी SWA सदस्य और ग़ैर-सदस्य भाग ले सकते हैं।
2. रजिस्टर करने वाले प्रतिभागियों को उनका ज़ूम वैबिनार इन्विटेशन ईमेल कार्यक्रम से एक दिन पहले भेजा जाएगा।
3. स्थान सीमित हैं और इन्विटेशन ईमेल से वैबिनार में प्रवेश ‘पहले आओ, पहले पाओ’ के आधार पर दिया जायेगा। अटैन्डी लिमिट भर जाने पर संभव है कि गूगल फॉर्म भरने पर भी आपको ज़ूम इन्विटेशन ईमेल ना मिले। या, ज़ूम ईमेल मिलने के बाद भी आप हमारे ज़ूम सैशन से ना जुड़ सके। ऐसे में आप इसे हमारे फेसबुक पेज पर लाइव देख सकेंगे और बाद में रेकॉर्डिंग भी हमारे यूट्यूब चैनल पर उपलब्ध रहेगी।
4. यह वैबिनार हमारे आधिकारिक फ़ेसबुक पेज www.facebook.com/swaindiaorg पर लाइव प्रसारित किया जायेगा।
5. आप हमारे पैनलिस्ट से कोई सवाल करना चाहे तो गूगल फॉर्म में लिखें। पैनलिस्ट ज़्यादा से ज़्यादा सवालों के जवाब देने का प्रयास करेंगे, पर अमूमन सभी सवालों का जवाब दिया जाना संभव नहीं रहता है। प्रतिभागियों से सहयोग की अपेक्षा है।
6. पहले से भेजे गए प्रश्नों को वरीयता दी जायेगी। सिर्फ वैबिनार के विषय से जुड़े सवालों पर ही ग़ौर किया जायेगा।
7. अधिक जानकारी के लिए हमें event@swaindia.org ईमेल करें।

Bheja_Insta

swaindia.org     |    facebook.com/swaindiaorg    |  twitter.com/swaindiaorg   instagram.com/swaindiaorg    |     swaindia.org/blog    | youtube.com/screenwritersassociation