STATEMENT OF SOLIDARITY

We have received a formal complaint from our member Ms Vinta Nanda, and we are committed to ensure a fair investigation and to deliverance of justice. We stand in solidarity with all victims of sexual harassment and encourage them to speak up.

As a Trade Union with more than twenty one thousand members, we believe that gender/sexuality based violence or discrimination is against the spirit of Article 21 of the Constitution of India, which espouses the basic Right to Livelihood for all Indian citizens. Thus, SWA upholds a ZERO TOLERANCE policy towards such behavior.

Being a Trade Union, we are governed by labour laws and a constitution. However, within that framework and beyond, SWA’s Internal Committee will offer full support to any member who is facing such harassment / discrimination, irrespective of gender or sexuality.

Our Internal Committee is also working towards the creation of a meaningful policy agenda towards this end. We will also actively pursue effective programs that promote gender equality and gender sensitisation in our industry.

If you are a member of SWA experiencing gender discrimination or sexual harassment at workplace, please reach out to us at ic@swaindia.org . We promise that you will be heard with all sensitivity, and your case will be dealt with swiftly, with complete confidentiality.

***

हम आपके साथ हैं!

(स्टेटमेंट ऑफ़ सॉलिडैरिटी)

हमें हमारी सदस्य विन्ता नंदा से एक औपचारिक शिकायत प्राप्त हुई है, और हम न्याय सुनिश्चित करने के लिए मामले की निष्पक्ष जाँच के लिए कटिबद्ध हैं। हम यौन उत्पीड़न (सैक्शुअल हैरासमेंट) के सभी पीड़ितों के साथ एकजुट हैं और उन्हें अपनी आवाज़ उठाने के लिए प्रोत्साहित करते हैं।  

इक्कीस हज़ार से ज़्यादा सदस्यों वाली एक ट्रेड यूनियन होने के नाते, ये हमारा दृढ़ विश्वास है कि यौन/लैंगिक हिंसा या भेदभाव भारतीय संविधान के आर्टिकल 21 की मूल भावना के विरुद्ध है जिसमें सभी नागरिकों के लिए समान रूप से जीवन जीने के अधिकार का प्रावधान है।

एसडबल्यूए इस तरह के व्यवहार के विरुद्ध ‘शून्य सहनशीलता नीति’ (ज़ीरो टोलरेंस पॉलिसी) अपनाने के लिए प्रतिबद्ध है। ट्रेड यूनियन होने नाते, हम श्रमिक क़ानून और हमारी एसोसिएशन के संविधान के अधीन हैं।

तथापि, उपरोक्त आधारभूत ढाँचे और इसके इतर भी, एसडबल्यूए की इंटर्नल कमेटी लैंगिक निरपेक्षता के साथ इस तरह के उत्पीड़न/भेदभाव से पीड़ित सभी सदस्यों को पूरा समर्थन देती है।

हमारी इंटर्नल कमेटी इस मुद्दे पर एक सार्थक पॉलिसी अजेंडा तैयार करने की दिशा में काम कर रही है। हम फ़िल्म इंडस्ट्री में लैंगिक समानता और लैंगिक संवेदीकरण को बढ़ावा देने के लिए प्रभावी कार्यक्रमों की रूपरेखा तैयार कर रहे हैं।

अगर आप एसडबल्यूए सदस्य है और अपने कार्यक्षेत्र में लैंगिक भेदभाव या यौन उत्पीड़न का सामना कर रहे हैं तो कृपया, ic@swaindia.org पर ईमेल भेजकर हमसे सम्पर्क करें। हम विश्वास दिलाते हैं कि हम आपकी समस्या को पूरी संवेदना और गोपनीयता से सुनेंगे और तुरंत प्रभाव से ज़रूरी कार्यवाही करेंगे।