क़ानूनी मामलों में आर्थिक मदद के लिए एसडबल्यूए ने बनायी ‘लीगल एड पॉलिसी’!

यह एक बड़ी ख़बर है! स्क्रीनराइटर्स एसोसिएशन ने अपने सदस्यों के लिए एक ‘लीगल एड पॉलिसी’ की घोषणा की है जिसके ज़रिए इसके सदस्य कॉपीराइट चोरी, गोपनीयता उल्लंघन (ब्रीच ऑफ़ कॉन्फ़ीडैंशियेल्टी), भुगतान और क्रेडिट सम्बंधी मामलों को कोर्ट तक ले जाने में मदद पा सकेंगे। इस क़दम को उठाकर एसडबल्यूए ने एक बार फिर सिद्ध किया है कि वह अपने सदस्यों की ईंटलैक्चुल प्रॉपर्टी और जायज़ हक़ों की रक्षा के लिए वचनबद्ध है।

इस पॉलिसी के अंतर्गत, एसोसिएशन अपनी डिसप्यूट सैटलमेंट कमेटी (डीएससी) और विशेषज्ञ वकीलों की सलाह के आधार पर, सदस्यों को 50 प्रतिशत वक़ील की फ़ीस (अथवा एक निर्धारित राशि, दोनों में से जो भी कम हो) प्रदान करेगी। पॉलिसी के बाक़ी दिशा-निर्देशों को भी जल्द ही तय किया जाएगा। इस उपाय से उन सदस्यों की इंसाफ़ की लड़ाई मज़बूत होगी जिनके पक्ष में डीएससी ने कोई फ़ैसला दिया हो और जो मामले को कोर्ट ले जाना चाहते हैं पर आर्थिक रूप से कमज़ोर पड़ जाते हैं।

यह भी ग़ौर करने लायक बात है कि एसोसिएशन ने अपने अंधेरी वैस्ट स्थित दफ़्तर पर पहले से ही एक कॉपीराइट विशेषज्ञ वक़ील को पूर्णकालिक ‘लीगल ऑफ़िसर’ के रूप में नियुक्त किया हुआ है जिनसे सभी सदस्य मुफ़्त क़ानूनी परामर्श ले सकते हैं। (जो भी एसडबल्यूए सदस्य क़ानूनी परामर्श के लिए लीगल ऑफ़िसर से मिलना चाहें, वे legal.officer@swaindia.org पर ईमेल भेंजे।) इसके अलावा, एसडबल्यूए ऐसे कई और कॉपीराइट विशेषज्ञ वक़ीलों के सम्पर्क में है जो इसके सदस्यों को बेहद किफ़ायती दरों पर क़ानूनी मदद देने के इच्छुक हैं।

क़ानूनी मामलों में आर्थिक सहायता देने की ज़रूरत एक अर्से से महसूस हो रही थी। डीएससी ने इसका प्रस्ताव भी रखा था, क्योंकि कमिटी अक्सर शिकायतकर्ताओं की भरपूर मदद करने में ख़ुद को असहाय महसूस करती थी। बहुत से मामलों में किसी निर्माता या निर्देशक या साथी-सदस्य के ख़िलाफ़ अपने वाजिब हक़ों की लड़ाई में पीड़ित एसडबल्यूए सदस्य के पास कोर्ट जाने का ही आख़िरी रास्ता बचता है। यहाँ तक कि फ़ेडेरेशन ऑफ़ वैस्टर्न इंडियन सिने इम्पलॉयीज़ (एफ़डबल्यूआईसीई) के साथ मिलकर गठित हुई जॉइंट-डीएससी-कमिटी में अब तक चार दर्जन से अधिक मामले लम्बित हैं। एसडबल्यूए के फ़ेडेरेशन से डिसएफ़िलिएट होने के बाद, जल्द से जल्द डीएससी को और मज़बूत करने की भी सख़्त ज़रूरत थी।

Legal 3 - 1920 X 800